ऐसा ही चलता रहा तो मानसिक तौर पर बीमार हो जाएंगे विराट कोहली, रोहित शर्मा, रहाणे जैसे क्रिकेटर!

Spread the love

पैडी अपटन ने बीसीसीआई समेत सभी क्रिकेट बोर्ड को दी बड़ी चेतावनी (फोटो-AP)

मेंटल कंडिशनिंग कोच पैडी अप्टन (Paddy Upton) ने बीसीसीआई समेत सभी बड़े क्रिकेट बोर्ड को कहा है कि बायो बबल में रहकर खिलाड़ी मानसिक रूप से बीमार हो सकते हैं

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 29, 2021, 6:12 PM IST

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मानसिक अनुकूलन कोच पैडी अपटन (Paddy Upton) ने BCCI (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) सहित विश्व के क्रिकेट संघों से विस्तृत अध्ययन करके लंबे समय तक जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में रहने के कारण खिलाड़ियों को मानसिक बीमारियों से बचाने की अपील की. कोविड-19 महामारी के बावजूद खेल प्रतियोगिताएं शुरू होने के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को जैव सुरक्षित वातावरण में रहना पड़ रहा है तथा कई क्रिकेटर, फुटबॉलर और टेनिस खिलाड़ी मानसिक स्वास्थ्य की बात कर चुके हैं. अपटन ने कहा कि शीर्ष खेल संघ इस मसले से निपटने के लिये पर्याप्त कोशिश नहीं कर रहे हैं.

मानसिक अनुकूलन कोच पैडी अपटन ने कहा, ‘सभी खिलाड़ियों के लिये यह एक समान चुनौती है और चूंकि हमने अलग-अलग खिलाड़ियों से फीडबैक लेने के लिये पर्याप्त शोध नहीं किया है इसलिए चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े सभी लोग कह रहे हैं कि जब तक हम परीक्षण नहीं करते तब तक हम अमुक दवाई को मंजूरी नहीं दे सकते तो क्या हमने शोध किया है.’

खिलाड़ी मानसिक तौर पर बीमार हो जाएंगे-अपटन
अपटन ने कहा, ‘विश्व में कई बायो बबल तैयार किये हैं लेकिन मैंने बड़े स्तर पर ऐसा कुछ नहीं देखा जिसमें आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद), बैडमिंटन या फुटबॉल से जुड़े लोगों या बीसीसीआई के पदाधिकारियों ने इससे पड़ने वाले प्रभावों को समझने के लिये खिलाड़ियों से प्रतिक्रिया प्राप्त करके व्यापक अध्ययन करने की बात की हो. ‘ उन्होंने कहा,’हमने अभी तक इसके कुप्रभाव नहीं देखे हैं लेकिन ऐसी संभावना है कि लगातार जैव सुरक्षित वातावरण में रहने के कारण हम अधिक मानसिक समस्याओं और बीमारियों का सामना करेंगे.’PAK VS SA: पाकिस्तान की जीत के बाद बोले शोएब अख्तर- फवाद आलम के शॉट में ताकत नहीं  

अपटन ने कहा कि इन समस्याओं में से कुछ का हल संभव है लेकिन अभी इस दिशा में किसी तरह का प्रयास नहीं किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘ इनमें से कुछ का बचाव संभव है लेकिन हम इनके बचाव के लिये कुछ नहीं कर रहे है इसलिए हमें तब तक इंतजार करना होगा जब तक ऐसी समस्याएं सामने न आ जाएं और यह खिलाड़ियों के लिये दुर्भाग्यपूर्ण होगा. ‘ बता दें भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी लगातार 6 महीने तक बायो बबल में रहे. आईपीएल के बाद टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई. अब वो इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज खेलेगी और इस दौरान भी उसके खिलाड़ी लंबे वक्त तक बायो बबल में रहेंगे.  (भाषा के इनपुट के साथ)




Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *