कारोना काल में शादियां और पांबदियां, प्रशासन मैरिज गार्डन में CCTV कैमरे लगवाकर करेगा निगरानी

Spread the love

ग्रामीण क्षेत्रों में व्यवस्था बनाने के लिए पटवारियों को ट्रेनिंग देते हुए जरूरी निर्देश दिए गए हैं..(सांकेतिक फोटो)

Weddings and Restrictions: कोरोना काल में होने वाली शादियों (Weddings) पर निगरानी रखने के लिये प्रशासन सख्त कदम उठाने जा रहा है. शादियों में कोरोना गाइडलाइन की पालना करवाने के लिये तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही हैं.

अलवर. कोराना काल (COVID-19) में जिले में होने वाली शादियों (Weddings) की निगरानी के लिये जिला प्रशासन ने कमर कस ली है. किसी भी शादी समारोह में 100 से ज्यादा लोग एकत्र ना हो इसकी निगरानी के लिये जिला प्रशासन ने मैरिज गार्डन, होटल और रेस्टोरेंट संचालकों को पर्याप्त संख्या में सीसीटीवी कैमरे (CCTV cameras) लगाने के निर्देश दिये हैं. सरकार की गाइडलाइन के अनुसार किसी भी शादी समारोह में 100 से अधिक लोग मिलने पर आयोजनकर्ता पर 25,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

जिला कलक्टर आनंदी ने सभी होटल, मैरिज गार्डन और रेस्टोरेंट संचालकों को सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए है. ताकि प्रशासन के आला अधिकारी किसी भी समारोह की रिकॉर्डिंग देख सके और 100 से अधिक लोग पाये जाने पर आयोजनकर्ता के खिलाफ कार्रवाई की जा सके. शादी समारोह की जांच के लिए जिला प्रशासन ने चार टीमें बनाई हैं. ये लगातार शादी समारोहों पर नजर रखेंगी. इनमें उपखंड अधिकारी और तहसीलदार सहित विभिन्न अधिकारियों को शामिल किया गया है. साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में व्यवस्था बनाने के लिए सभी पटवारियों को ट्रेनिंग देते हुए जरूरी निर्देश दिए गए हैं.

अलवर में शर्मनाक वारदात: दोस्त की बुजुर्ग मां से 21 साल के युवक ने किया रेप, पोर्न वीडियो देखने की थी लत

अब तक 1900 से अधिक शादियों की दी जा चुकी अनुमति
अलवर एसडीएम योगेश डागुर को शहर में मॉनिटरिंग अफसर नियुक्त किया गया है. अलवर शहर में अब तक शादी के लिए 1900 से अधिक लोग अनुमति ले चुके हैं. इसके अलावा लगातार लोगों के आने का सिलसिला जारी है. शादी समारोह सहित अन्य कार्यक्रमों की अनुमति लेना भी आवश्यक है. बिना अनुमति के बड़े आयोजन करने वाले आयोजनकर्ताओं पर पांच हजार का जुर्माना लगाया जाएगा. शादी समारोह में जाने वाले लोग रात आठ बजे बाद कार्ड साथ लेकर जरूर जाए. रात्रिकालीन कर्फ्यू को देखते हुये व्यापारियों को रात को 7 बजे बाजार बंद करने के निर्देश दिए गए हैं.

असमंजस में है मैरिज होम संचालक
वहीं मैरिज होम संचालकों का कहना है कि डीजे, बैंड और बारात की निकासी पर रोक लगाई गई है. रात्रिकालीन कर्फ्यू से परेशानी बढ़ गई है. प्रशासन ने स्पष्ट गाइडलाइन जारी नहीं की है. इससे मैरिज होम संचालकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. शादी के लिए अनुमति लेने आये कुछ लोगों का कहना है कि प्रशासन अनुमति के नाम पर लोगों को परेशान कर रहा है.

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *