गाबा टेस्ट में भारत की जीत पर इमोशनल हो गए थे वीवीएस लक्ष्मण, आंखों से बहने लगे थे आंसू– News18 Hindi

Spread the love

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन के गाबा (Gabba Test) में खेले गए चौथे टेस्ट का आखिरी दिन 19 जनवरी 2021 भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास का बेहद खास दिन बन गया. इस मैच के पांचवें दिन जब शुभमन गिल (Shubman Gill) और रोहित शर्मा बल्लेबाजी के लिए आए तो मेजबान ऑस्ट्रेलिया फेवरेट था. ऑस्ट्रेलिया ने 32 सालों से गाबा में कोई टेस्ट नहीं हारा था. भारत के पास विराट कोहली, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, रविचंद्रन अश्विन, उमेश यादव, इशांत शर्मा, केएल राहुल और हनुमा विहारी नहीं थे. जीत का लक्ष्य 328 उनसे बहुत दूर लग रहा था, लेकिन शुभमन गिल के शानदार 91 रन, चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की 56 रन की ठोस पारी, वाशिंगटन सुंदर (Washington Sunder) का 22 रन का कैमियो और इसके बाद ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की नाबाद 89 रनों की पारियों ने भारत को तीन विकेट से ऐतिहासिक जीत दिला दी. भारत ने 2-1 से सीरीज पर कब्जा किया.

भारतीय क्रिकेट के दूसरे फैन्स की तरह ही पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) भी इस ऐतिहासिक मुकाबले को देख रहे थे. स्पोर्ट्स टुडे से बातचीत में टेस्ट लीजेंड ने कहा, ”मैं मैच देखते हुए बहुत भावुक हो गया था. अंतिम दिन मैं अपने परिवार के साथ मैच देख रहा था. जब ऋषभ पंत और वाशिंगटन सुंदर बल्लेबाजी कर रहे थे, तब मैं बहुत तनाव में था, क्योंकि जब आप नहीं खेल रहे होते तो चीजें आपके नियंत्रण में नहीं होतीं.”

Kisan Andolan: पॉप स्टार रिहाना के ट्वीट पर पूर्व क्रिकेटर प्रज्ञान ओझा ने दिया करारा जवाब

पिता का पुराना VIDEO शेयर कर इमोशनल हुए हार्दिक पंड्या, बोले- यह मुझे रुलाता है

लक्ष्मण ने कहा, ”मैं चाहता था कि भारत ऑस्ट्रेलिया को हराए और सीरीज जीते. खासतौर पर एडिलेड के बाद. गाबा टेस्ट के बाद हर कोई कह रहा था कि ब्रिस्बेन में ऑस्ट्रेलिया 32 सालों से नहीं हारा है.” लक्ष्मण ने कहा कि यह दूसरा मौका था जब मेरी आंखों से आंसू निकलने लगे. पहली बार 2011 के वर्ल्ड कप फाइनल में ऐसा हुआ था.”

उन्होंने कहा, ”मैं हमेशा चाहता था कि ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराया जाए. एक क्रिकेटर के रूप में मैं ऐसा नहीं कर पाया. मुझे इस युवा भारतीय टीम पर गर्व है. मेरी आंखों से आंसू निकल गए. शब्द मेरी भावनाओं को प्रकट नहीं कर सकते. क्या शानदार प्रेरक उपलब्धि रही, केवल क्रिकेट के लिए ही नहीं पूरे देश के लिए.” बता दें कि अब भारत को इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट, 3 वनडे और 5 टी20 की सीरीज खेलनी है.

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *