जम्मू कश्मीर DDC की सत्ता पर कब्जा करने के लिए BJP ने अवैध साधनों का सहारा लिया: नेशनल कॉन्फ्रेंस– News18 Hindi

Spread the love

श्रीनगर. नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) ने सोमवार को भाजपा (BJP) पर हाल ही में संपन्न जिला विकास परिषद (District Development Elections) चुनाव में सत्ता पर कब्जा करने के लिए अवैध साधनों का सहारा लेकर लोकतंत्र को कमजोर करने का आरोप लगाया. यहां एक बयान में, नेकां के प्रवक्ता इमरान नबी डार ने डीडीसी के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पदों के लिए हुए चुनाव में निर्धारित नियमों और लोकतांत्रिक मानदंडों के ‘‘उल्लंघन’’ पर निराशा व्यक्त की.

डार ने कहा, ‘‘डीडीसी अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव में भाजपा और उसके सहयोगी ने सभी मानदंडों का उल्लंघन किया है. जिस तरह से प्रशासन सत्ता पक्ष को लाभ पहुंचाने के लिए पक्षपातपूर्ण भूमिका निभा रहा है, उसने पूरी चुनावी प्रक्रिया की निष्पक्षता पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है.’’ नेकां नेता ने कहा कि ये पार्टियां डीडीसी चुनावों में अपनी छाप छोड़ने में विफल रही हैं, इसलिए अब ने अन्य चीजों का सहारा ले रही हैं.

उन्होंने कहा, “डीडीसी चुनावों के माध्यम से, जम्मू-कश्मीर के लोगों ने एक संदेश दिया था. भाजपा और उसके सहयोगी दुर्भाग्य से इसे समझने में नाकाम रहे. डीडीसी में सत्ता हथियाने के लिए वे किसी भी प्रकार के राजनीतिक हथकंडा अपना रहे हैं. सत्ता को प्राप्त करने के लिए वे सबसे निचले स्तर पर उतर गए हैं और किसी भी साधन का उपयोग कर रहे हैं.”

बडगाम, कुपवाड़ा में डीडीसी चुनावों का दूसरा चरण संपन्न
बता दें जम्मू कश्मीर के बडगाम और कुपवाड़ा जिलों में जिला विकास परिषदों (डीडीसी) के अध्यक्षों के लिए दूसरे चरण का चुनाव सोमवार को संपन्न हुआ. अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि हालांकि, बारामूला जिले में मतदान स्थगित कर दिया गया. उन्होंने बताया कि मध्य कश्मीर में बडगाम जिले में, नाज़िर अहमद खान – एक निर्दलीय डीडीसी सदस्य को अध्यक्ष के रूप में जबकि नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के नजीर अहमद जहरा को डीडीसी के उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया.

खान पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के सदस्य थे, लेकिन उन्होंने पिछले साल दिसम्बर में हुआ डीडीसी चुनाव एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में लड़ने का फैसला किया था.

अधिकारियों ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सज्जाद लोन के नेतृत्व में पीपल्स कॉन्फ्रेंस (पीसी) ने अध्यक्ष का पद हासिल किया, जबकि पार्टी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार ने उपाध्यक्ष का पद जीता.
(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *