दक्षिण अफ्रीका: Corona का फायदा उठा रहे हिंदू पुजारी, अंत्येष्टि के लिए वसूल रहे ज्यादा पैसे

Spread the love

कॉन्सेप्ट इमेज.

दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में हिंदू धर्म एसोसिएशन के सदस्य रामलाल ने कहा कि उन्हें ऐसे अनेक परिवारों से अंत्येष्टि के लिए पुजारियों द्वारा अधिक शुल्क वसूले जाने की शिकायतें मिली हैं जिनके किसी परिजन का कोविड-19 के चलते निधन (Death) हो गया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 24, 2021, 10:10 AM IST

जोहानिसबर्ग. दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में कुछ हिंदू पुजारियों (Hindu Priests) पर आरोप लगे हैं कि कोविड-19 के कारण मरने वालों की अंत्येष्टि के लिए उन्होंने कथित रूप से अधिक शुल्क वसूला. डरबन में क्लेयर एस्टेट क्रिमेटोरियम में प्रबंधक प्रदीप रामलाल ने ऐसा करने वाले पुजारियों की निंदा की है. दक्षिण अफ्रीका में हिंदू धर्म एसोसिएशन के सदस्य रामलाल ने कहा कि उन्हें ऐसे अनेक परिवारों से अंत्येष्टि के लिए पुजारियों द्वारा अधिक शुल्क वसूले जाने की शिकायतें मिली हैं जिनके किसी परिजन का कोविड-19 के चलते निधन हो गया. हाल के हफ्तों में, कोविड-19 के प्रकोप तथा वायरस के नए स्वरूप के कारण अंत्येष्टि स्थलों पर कर्मी दो पाली में काम कर रहे हैं. दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल के लोगों की आबादी करीब 14 लाख है.

रामलाल ने वीकली पेास्ट से कहा, ‘पुजारी अंत्येष्टि के लिए अधिक शुल्क वसूल रहे हैं, यह सही नहीं है. हमारे धर्मग्रंथों के अनुसार यह समुदाय की सेवा है. अगर कोई परिवार पुजारी को दान देना चाहता है तो यह ठीक है लेकिन पुजारियों को इसके लिए शुल्क नहीं लेना चाहिए.’ उन्होंने समुदाय से कहा कि वे आज की कठिन परिस्थितियों में इस तरह के शोषण से बचें और अंत्येष्टि स्वयं ही कर लें, इसके लिए वे पहले से रिकॉर्ड वीडियो की मदद ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें: अमेरिका: बाइडन प्रशासन करेगा तालिबान के साथ हुए शांति समझौते की समीक्षा

बीते दो महीनों में दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के मामले तथा संक्रमण के कारण मौत की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है. यहां अब तक संक्रमण के 13 लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं तथा संक्रमण के कारण 39,501 लोगों की जान जा चुकी है. भारत अगले महीने तक यहां कोविड-19 टीके की 1.5 करोड़ से अधिक खुराकें भेजने वाला है.




Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *