बंगाल में ममता ने ही ओवैसी का ही खेल बिगाड़ा, AIMIM के बड़े नेता समेत कई पदाधिकारी तृणमूल में शामिल

Spread the love

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के कई बडे़ नेता टीएमसी में शामिल हो गए हैं. (फाइल फोटो)

West Bengal Assembly Elections 2021: बिहार में पांच सीटें जीतने के बाद पश्चिम बंगाल के चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी में लगी असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को बड़ा झटका लगा है.

कोलकाता. ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल- मुस्लिमीन (All India Majlis-e-Ittehadul Muslimeen) की पश्चिम बंगाल इकाई (AIMIM West Bengal Unit) के नेता अनवर पाशा सोमवार को यह दावा करते हुए अपने साथियों के साथ सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) में शामिल हो गये कि उनकी मूल पार्टी वोटों का ध्रुवीकरण (Voter Polarisation) कर बस भाजपा (BJP) को मदद पहुंचाने का काम कर रही है. पाशा ने आरोप लगाया कि लोगों का एक वर्ग धर्म का इस्तेमाल करके देश को विध्वंस की ओर ले जा रहा है. उन्होंने कहा कि फिलहाल पश्चिम बंगाल पर नजर गड़ाये हुए लोगों, चाहे उन्होंने भगवा पहन रखा हो या हरा, को जान लेना चाहिए कि ऐसे बांटने वालों की इस राज्य में कोई जगह नहीं है.

पाशा ने कहा, ‘‘एआईएमआईएम ने बिहार (Bihar) में वोटों के ध्रुवीकरण में भूमिका निभायी और वहां भाजपा को सरकार बनाने में मदद पहुंचायी लेकिन ऐसा बंगाल में नहीं होगा. ’’ उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की 30 फीसद जनसंख्या मुसलमान है और बिहार में जो भी राजनीतिक घटनाक्रम हुआ, उसे इस राज्य में नहीं दोहराया जा सकता है. मंत्री द्वय ब्रत्य बसु और मोली घाटक ने पाशा का तृणमूल कांग्रेस में स्वागत किया.

ये भी पढ़ें- दिल्ली समेत इन 4 राज्यों से महाराष्ट्र जा रहे लोगों को कोरोना टेस्ट रिपोर्ट के बिना नहीं मिलेगी एंट्री

ओवैसी ने कहा बंगाल चुनाव पर नेताओं से करेंगे बातएआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (AIMIM Chief Asaduddin Owaisi) ने रविवार को कहा था कि उनकी पार्टी पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ने के विषय पर वहां के अपने नेताओं के साथ चर्चा करेगी. पश्चिम बंगाल में एआईएमआईएम के अगला विधानसभा लड़ने के सवाल पर हैदराबाद के सांसद (Hyderabad’s MP) ने पत्रकारों से कहा कि पार्टी अपनी पश्चिम बंगाल इकाई के साथ बैठक कर रही है.

उन्होंने कहा कि हम बातचीत करेंगे और उनसे फीडबैक मिलने के बाद किसी निर्णय पर पहुंचा जाएगा एवं उससे आपको अवगत करा दिया जाएगा. जब उनसे यह प्रश्न किया गया कि क्या एआईएमआईएम सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के साथ गठजोड़ करेगी तो उन्होंने कहा, ‘‘ पहले मुझे पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई से बात तो करने दीजिए.’’

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *