भारत ने ब्राजील को भेजी वैक्सीन, संजीवनी ले जाते भगवान हनुमान की फोटो ट्वीट कर बोल्सनारो बोले- धन्यवाद

Spread the love

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से मुकाबला करने के लिए भारत ना सिर्फ अपने नागरिकों की मदद करने में सक्षम दिख रहा है, बल्कि अन्य देशों की मदद के लिए भी आगे आ रहा है. इसी कड़ी में भारत सरकार ने शुक्रवार को ब्राजील, मोरक्को के लिए कोवीशील्ड की खुराकें भेजीं. इस बाबत ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सनारो (Jair Bolsonaro) ने एक ट्वीट कर भारत की प्रशंसा की और उसे धन्यवाद कहा. उन्होंने एक तस्वीर ट्वीट कर भारत को संजीवनी भेजने वाला बताया.

इसके साथ ही अमेरिका के जो बाइडन प्रशासन ने दक्षिण एशिया के कई देशों को कोविड-19 टीके की आपूर्ति करने के लिए भारत की सराहना की है और भारत को ‘एक सच्चा दोस्त’ बताया है जो वैश्विक समुदाय की मदद के लिए अपने फार्मास्युटिकल क्षेत्र का उपयोग कर रहा है.

कोवीशील्ड की खुराके ब्राजील को रवाना होने के बाद जायर बोल्सनारो ने ट्वीट कर कहा कि नमस्कार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी! वैश्विक आपदा का सामना करने के लिए ब्राजील एक महान भागीदार पा कर सम्मानित है. भारत से ब्राजील के लिए टीके भेजने में हमारी मदद करने के लिए धन्यवाद.’ उन्होंने हिन्दी में भी धन्यवाद लिखकर भारत के प्रति सम्मान व्यक्त किया.  ब्राजीली राष्ट्रपति ने अपने ट्वीट में एक तस्वीर का इस्तेमाल किया है जिसमें भगवान हनुमान की संजीवनी ले जाते हुए दिखाया गया है.

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सनारो ने ट्वीट कर भारत को धन्यवाद कहा.

अमेरिका ने भी दी बधाई
इसके साथ ही अमेरिका के विदेश विभाग के दक्षिण एवं मध्य एशिया मामलों के ब्यूरो की ओर से ट्वीट किया गया, ‘हम वैश्विक स्वास्थ्य में भारत की भूमिका की सराहना करते हैं जिसने दक्षिण एशिया में कोविड-19 टीके की लाखों खुराक साझा की हैं.  भारत की ओर से टीके की मुफ्त खेप की आपूर्ति मालदीव, भूटान, बांग्लादेश और नेपाल के साथ शुरू हुई और यह दूसरों के लिए भी विस्तारित होगी. भारत एक सच्चा मित्र है जो वैश्विक समुदाय की मदद के लिए अपने फार्मास्युटिकल क्षेत्र का उपयोग कर रहा है.’

नेपाल, बांग्लादेश, भूटान और मालदीव को भारत ने अपनी ‘पड़ोसी पहले’ नीति के तहत अनुदान सहायता के तौर पर कोविड-19 टीका भेजा है. भारत कोरोना वायरस टीकाकरण का अभियान पहले ही बड़े पैमाने पर शुरू कर चुका है, जिसके तहत देश भर में दो टीके- कोविशील्ड और कोवैक्सीन अग्रिम मोर्चे पर लगे कर्मियों को दिये जा रहे हैं.

भारत ने भूटान को कोविशील्ड टीके की 150,000 खुराक और मालदीव को 100,000 खुराकें भेजी हैं, जबकि बांग्लादेश को कोविड-19 टीकों की 20 लाख से अधिक खुराक और नेपाल को 10 लाख खुराक भेजी गई है.

इसके साथ ही कोविशील्ड की 20- 20 लाख खुराक लेकर दो विमान शुक्रवार की सुबह मुंबई हवाई अड्डे से ब्राजील और मोरक्को के लिए रवाना हुए. भारत दुनिया के सबसे बड़े दवा निर्माता देशों में शामिल है और कोरोना वायरस का टीका खरीदने के लिए कई देशों ने इससे संपर्क किया है.

सीएसएमआईए के अनुसार, ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा तैयार कोविशील्ड टीके की 20 लाख खुराक ले कर एक विमान छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (सीएसएमआईए) से ब्राजील के लिए और 20 लाख खुराक लेकर दूसरा विमान मोरक्को के लिए रवाना हुआ.’

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *