मथुरा: बिक रहा गोवर्धन पर्वत!, ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी ने गिरिराज की शिला बिक्री का दिया विज्ञापन

Spread the love

गिरिराज जी की शिला को गिरिराज तलहटी से बाहर ले जाना निषिद्ध है.

लोगों ने कहा कि सोशल साइट पर धार्मिक भावनाओं को आहत करते हुए गोवर्धन पर्वत (Govardhan Mountains) को बेचे जाने की कोशिश की जा रही है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 8, 2021, 11:26 AM IST

मथुरा. उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक बड़ी खबर सामने आई है. मथुरा में करोड़ों हिंदुओं की आस्था के केंद्र गिरिराज पर्वत (गोवर्द्धन पर्वत) की शिलाओं को ऑनलाइन बेचा जा रहा है. यह बिक्री एक कंपनी लक्ष्मी डिवाइन आर्टिकल स्टोर्स कर रही है. इस संस्था ने ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी इंडिया मार्ट चेन्नई पर बकायदा विज्ञापन भी डाला गया है. शिला की कीमत पांच हजार रुपए रखी है. जिस पर कंपनी ने नेचुरल गिरी गोवर्धन शिला गोवर्धन स्टोन गिरिराज कृष्ण शिला लिखा है. वहीं, गिरिराज शिला का एक फोटो भी लगाया है और उसकी कीमत 5,175 रुपए रखी है.

तलहटी से शिला को बाहर ले जाना मना
सोमवार को जब यह विज्ञापन सोशल मीडिया पर साधु-संतों और ब्रजवासियों ने देखा तो उनमें आक्रोश पनपने लगा. श्रद्धालुओं व संतों ने थाना गोवर्धन का घेराव कर हंगामा किया. आस्था से खिलवाड़ बताते हुए कंपनी मालिक और कंपनी के खिलाफ तहरीर देकर गिरफ्तारी की मांग की गई है. परिक्रमा में रह रहे दीनबंधु दास महाराज ने बताया कि गिरिराज जी महाराज हम सभी साधु संतों और ब्रजवासियों के इष्ट हैं. धार्मिक ग्रन्थों में लिखा हुआ है कि गिरिराज जी की शिला को गिरिराज तलहटी से बाहर ले जाना निषिद्ध है.

ठोस कदम उठाना चाहिएलोगों ने कहा कि सोशल साइट पर धार्मिक भावनाओं को आहत करते हुए गोवर्धन पर्वत को बेचे जाने की कोशिश की जा रही है. और गोवर्धन शिला की कीमत लगाकर उसे खुलेआम बेचा जा रहा है. ऐसे लोग हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत कर रहे हैं. संतो का कहना है आए दिन देश में हिन्दू भावनाओं के साथ खेलवाड़ किया जा रहा है. कभी हिन्दू देवी-देवताओंं को लेकर कोई अभद्र टिप्पणी कर देता है तो कभी कोई भगवान राम को लेकर कुछ बोल देता है. ऐसे में ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार को इस ओर कोई ठोस कदम उठाना चाहिए.




Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *