मोदी कैबिनेट के विस्तार की चर्चा के बीच नीतीश जाएंगे दिल्ली, JDU कोटे से इन चेहरों को मिल सकती है जगह

Spread the love

केंद्रीय कैबिनेट के विस्तार की चर्चाओं के बीच जेडीयू कोटे से भी मंत्री बनाए जाने की संभावना है.

केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार की चर्चा और नीतीश कुमार के दिल्ली दौरे के बीच जेडीयू कोटे के संभावित मंत्रियों के नाम की चर्चा तेज हो गई है. संभावना है कि नीतीश कुमार शीर्ष नेतृत्व से मिलकर खुद ही मंत्रियों के नाम दे सकते हैं.

पटना. मोदी कैबिनेट के विस्तार की चर्चा के बीच JDU के तरफ से साफ इशारा मिल चुका है कि JDU केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार होने पर केंद्र सरकार में शामिल होगी. इसका इशारा खुद JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने NEWS18 से बातचीत में दिया था. इस बीच नीतीश कुमार के मंगलवार को दिल्ली दौरे की चर्चा के बीच कयास लग रहे हैं कि नीतीश कुमार केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा के पहले भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात कर सकते हैं. वह खुद JDU कोटे के मंत्रियों की जानकारी उन्हें दे सकते हैं.

JDU के मंत्रिमंडल में शामिल होने का ऑफर तब भी मिला था जब नरेंद्र मोदी की सरकार बन रही थी, लेकिन उस वक़्त संख्या को लेकर JDU और भाजपा के बीच मामला फंस गया था. तब JDU को मंत्रिमंडल में मात्र एक सीट मिल रहा था. जिस पर नीतीश कुमार ने इंकार कर दिया था, बताते हैं कि तब ललन सिंह और आरसीपी सिंह में से किसी एक को ही जगह मिलती और तब नीतीश कुमार दोनों में से किसी को भी नाराज़ नही करना चाहते थे. अब खबर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में एक से ज़्यादा सीट JDU को मिल सकती है.

ये हैं JDU कोटे के संभावित नाम, जिन्हें मिल सकती है जगह 

आरसीपी सिंह- JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष और नीतीश कुमार के भरोसेमंद  पूर्व नौकरशाह और राज्यसभा सांसद रामचंद्र प्रसाद सिंह को नीतीश कुमार की पसंद माना जाता है. बेहद अनुभवी और JDU के संगठन को मज़बूत बनाने में आरसीपी सिंह का महत्वपूर्ण रोल रहा है. भाजपा से भी बेहतर सम्बंध माना जाता है.ललन सिंह- मुंगेर से JDU सांसद और CM नीतीश कुमार के संकट मोचक माने जाने वाले ललन सिंह उनके करीबी माने जाते हैं, नीतीश कुमार पर जब भी संकट आता है, ललन सिंह उसे दूर करने में महत्वपूर्ण रोल अदा करते हैं. बिहार JDU के प्रदेश अध्यक्ष और नीतीश मंत्रिमंडल में मंत्री भी रह चुके हैं, भूमिहार वोटर में मैसेज भी जाने की उम्मीद है.

संतोष कुशवाहा- पूर्णिया से JDU के युवा सांसद और नीतीश कुमार के लव कुश समीकरण में फ़िट होने वाले संतोष कुशवाहा की चर्चा भी बेहद तेज है. JDU कोटा से केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने वालों में, साफ़ सुथरी छवि और कुशवाहा वोटर को मैसेज देने के लिए नीतीश कुमार संतोष कुशवाहा को JDU कोटा से मंत्री बनवा सकते हैं.

रामनाथ ठाकुर- स्वर्गीय कर्पुरी ठाकुर के बेटे और राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर के नाम की चर्चा भी अंदर खाने में ज़ोर शोर से उठ रही है. नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में रामनाथ ठाकुर मंत्री भी रह चुके हैं, और इन्हें मंत्रिमंडल में शामिल कर नीतीश कुमार दलित समुदाय में मैसेज देने की कोशिश कर सकते है.

चंदेश्वर चंद्रवंशी- जहानाबाद से JDU सांसद और अति पिछड़ा समुदाय से आने वाले चंदेश्वर  प्रसाद चंद्रवंशी भी नीतीश कुमार के अति पिछड़ा राजनीति को देखते हुए मंत्रिमंडल में शामिल कर अति पिछड़ा समुदाय को बड़ा मैसेज देने की कोशिश कर सकते हैं. विधानसभा चुनाव में अति पिछड़ा वोटर JDU से  छिटक गया था, जिसे फिर से अपने पाले में करने के लिए नीतीश कुमार चंद्रवंशी को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह दिलवा सकते हैं.





Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *