मोहम्‍मद सिराज के 5 विकेट के लिए दुआ कर रहे थे शार्दुल ठाकुर, कही दिल छूने वाली बात

Spread the love

मोहम्मद सिराज ने टेस्ट सीरीज में 13 विकेट लिए थे (साभार-एपी)

मोहम्‍मद सिराज (mohmmed Siraj) ने गाबा टेस्‍ट मैच की दूसरी पारी में 73 रन देकर 5 विकेट लिए थे. सिराज ने पहली बार टेस्ट क्रिकेट में एक पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा किया था

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 26, 2021, 5:56 PM IST

नई दिल्‍ली. चार टेस्‍ट मैचों की सीरीज में ऑस्‍ट्रेलिया पर भारत की जीत में अहम योगदान देने वाले शार्दुल ठाकुर (shardul thakur) ने कहा कि वो दिल से चाहते थे कि मोहम्‍मद सिराज (mohmmed Siraj) पांच विकेट के क्‍लब में शामिल हो. सिराज ने गाबा टेस्‍ट मैच की दूसरी पारी में 73 रन देकर 5 विकेट लिए थे. सिराज ने पहली बार टेस्ट क्रिकेट में एक पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा किया. इसके साथ ही उन्होंने 551 इंटरनेशनल विकेट लेने वाले महान भारतीय तेज गेंदबाज का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया.
दरअसल सिराज ऑस्ट्रेलिया में डेब्यू टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज बन गए हैं. मोहम्मद सिराज ने मौजूदा टेस्ट सीरीज में 13 विकेट झटके हैं और उनसे पहले ये रिकॉर्ड जवागल श्रीनाथ के नाम था. श्रीनाथ ने साल 1991-92 में 10 विकेट अपने नाम किये थे.मोहम्मद सिराज ने जोश हेजलवुड का विकेट लेकर अपने पांच विकेट पूरे किये. इसके साथ ही पूरा गाबा मैदान और टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी उन्हें सलाम करने लगे.

सिराज के लिए था काफी मुश्किल समय
गाबा टेस्‍ट की पहली पारी में 67 रन बनाकर भारत की वापसी कराने वाले शार्दुल ने स्‍पोर्ट्स टुडे से बातचीत में कहा कि मैं दिल की गहराई से दुआ कर रहा था कि सिराज को पांच विकेट के क्‍लब में शामिल होना चाहिए, क्‍योंकि पिता के गुजरने के बाद यह उनके लिए काफी इमोशनल और मुकिश्‍ल समय था. सिराज पिता के सपने को पूरा करने के लिए उनके निधन के बाद वापस भारत भी नहीं लौटे थे.यह भी पढ़ें : 

ऋषभ पंत हर सीरीज के बाद ‘दान’ कर देते हैं अपना किट बैग, पीछे है बड़ी वजह

भारत के खिलाफ इंग्‍लैंड टीम से बाहर हुए बेयरस्‍टो से डिकवेला ने पूछा- सिर्फ पैसों के लिए खेलते हो?
दरअसल सिराज के पिता मोहम्मद गौस (Mohammed Ghouse) का 20 नवंबर को निधन हो गया था. इसके एक सप्ताह पहले ही भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया पहुंची थी और कोरोना प्रोटोकॉल के कारण सिराज अंतिम संस्कार के लिए लौट भी नहीं सके. ऐतिहासिक जीत के बाद जैसे ही सिराज भारत लौटे, वह एयरपोर्ट से उतरकर सीधे अपने पिता के कब्र पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे.




Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *