विराट और शास्त्री की रणनीति पर भड़के कुलदीप यादव के कोच, कहा- घर की मुर्गी दाल बराबर– News18 Hindi

Spread the love

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही घरेलू टेस्ट सीरीज (India vs England) में कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) को मौका मिलेगा, लेकिन उन्हें चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट मैच की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया. भारत को इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में 227 रनों से हार का सामना करना पड़ा. ऐसे में कुलदीप यादव के बचपन के कोच कपिल पांडे (Kapil Pandey) ने टीम प्रंबंधन को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि टेस्ट क्रिकेट में कम मौके मिलने के कारण कुलदीप यादव अब तक 200 टेस्ट विकेट नहीं ले पाए हैं.

कपिल पांडे ने स्पोर्ट्सकीड़ा को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ”अगर वह किसी और देश के लिए खेल रहे होते तो अब तक 200 से अधिक विकेट ले चुके होते.” कपिल पांडे कुलदीप को 17 साल की उम्र से कोचिंग दे रहे हैं. उनका मानना है कि कुलदीप को टीम प्रबंधन नाजायज तरीके से डील कर रहा है. इंग्लैंड के खिलाफ उन्हें प्लेइंग इलेवन में रखा जाना चाहिए था. कुलदीप ने भारत के लिए अंतिम टेस्ट जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेला था. हालिया बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Trophy) के चारों मैचों में वह बेंच पर बैठे रहे. कुलदीप के कोच पांडे टीम के हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) और कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) से चेन्नई में स्पिनर के ना चुने जाने का कारण पूछा है.

IND vs ENG: भारत को बड़ा झटका, इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में नहीं खेल पाएंगे रविंद्र जडेजा- रिपोर्ट

कपिल पांडे ने पूछा, ”भारत ने ऑल राउंडर अक्षर पटेल की जगह शाहबाज नदीम को चुना और कुलदीप यादव को अनदेखा किया. कुलदीप ने अपने अंतिम टेस्ट में पांच विकेट लिए थे. इसके बाद से टीम प्रंबंधन ने उन्हें कोई अवसर नहीं दिया. स्वाभाविक रूप से उनपर दबाव बढ़ रहा है. हर खिलाड़ी को भरपूर मौके मिलने चाहिए. वाशिंगन सुंदर को खुद को साबित करने के लिए मौके मिल रहे हैं. नदीम को दो मौके मिले तो कुलदीप को मौका क्यों नहीं?”

कपिल पांडे ने कहा, ”यदि कुलदीप ने किसी और देश के लिए 50 टेस्ट खेल लिए होते तो वह 200 विकेट ले चुके होते.” रविंद्र जडेजा के चोटिल होने के बाद कुलदीप पहला विकल्प होना चाहिए था, लेकिन टीम प्रबंधन ने नदीम को मौका देकर सबको चकित कर दिया. चेन्नई में स्पिनरों की परफॉर्मेंस पर पांडे ने कहा स्थानीय रविचंद्रन अश्विन के अलावा किसी दूसरे स्पिनर ने प्रभावित नहीं किया. बता दें कि नदीम ने दोनों पारियों में मुश्किल से चार विकेट लिए. वाशिंगटन को कोई विकेट नहीं मिली. भारत पहला टेस्ट बड़े अंतर से हार गया.

पार्थिव पटेल का बड़ा बयान, कहा-रोहित शर्मा के कप्तान बनने से विराट कोहली को फायदा

कपिल पांडे ने शाहबाज नदीम के चयन पर तंज कसते हुए कहा, ”जो खिलाड़ी टीम के साथ लगातार प्रैक्टिस कर रहा है, उसे ही टीम में मौका नहीं मिल रहा है.” उन्होंने आगे कहा, ”कुलदीप यादव लगातार टीम के साथ ट्रेवल कर रहे हैं, लेकिन अभी तक उन्हें मौका नहीं मिला है. वो एक कहावत है- ‘घर की मुर्गी दाल बराबर’ इसलिए आप उन्हें समझने की कोशिश नहीं कर रहे हैं. आप उनके नंबर नहीं देख रहे हैं, आप उन्हें एक सामान्य क्रिकेटर की तरह ही देख रहे हैं.”

उन्होंने कहा, ”अगर वह एक मैच में भी थोड़ा अंडर परफॉर्म करते हैं तो उन्हें साइडलाइन कर दिया जाता है. वहीं, दूसरी तरफ बाकी खिलाड़ियों को कई मौके दिए जाते हैं. आप उस खिलाड़ी को टीम में शामिल करते हैं, जो टीम में नहीं हैं और उसकी कोई तैयारी भी नहीं है. कप्तान और कोच की महानता कहां है? जो खिलाड़ी की टीम के साथ नियमित रूप से प्रैक्टिस कर रहे हैं, उसे मौका नहीं मिल रहा है.”

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *