Bhadohi News: बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के बेटे की संपत्ति कुर्क, 5 महीने से चल रहा है फरार– News18 Hindi

Spread the love

भदोही. उत्‍तर प्रदेश के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा (MLA Vijay Mishra)के बेटे विष्णु मिश्रा (Vishnu Mishra) के खिलाफ पुलिस ने कुर्की की कार्रवाई की है. कोर्ट के आदेश के बाद यह कार्रवाई की गई है. विधायक विजय मिश्रा के रिश्तेदार ने उनके और उनकी पत्नी रामलली मिश्रा के साथ बेटे पर मकान और अन्य प्रॉपर्टी पर कब्जा करने को लेकर मुकदमा लिखाया था. इस मामले में विधायक का बेटा फरार चल रहा है जिसको लेकर पुलिस (UP Police) ने कार्रवाई शुरू की है.

भदोही जनपद की ज्ञानपुर विधानसभा सीट से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने गोपीगंज कोतवाली में उनके और उनकी पत्नी के साथ बेटे विष्णु मिश्रा के खिलाफ मकान और अन्य प्रॉपर्टी पर कब्जा करने को लेकर मुकदमा दर्ज कराया था. इस मामले में विधायक विजय मिश्रा वर्तमान में जेल में बंद हैं. उनको मध्य प्रदेश से पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जबकि उनकी पत्नी रामलली मिश्रा जमानत पर हैं, लेकिन विधायक का बेटा विष्णु मिश्रा पांच महीने से लगातार फरार चल रहा है.

बहरहाल, इस मामले में विवेचक के द्वारा कोर्ट में विधायक के बेटे विष्णु मिश्रा के खिलाफ कुर्की के लिए अर्जी दी गई थी जिसमें कोर्ट ने कुर्की का आदेश दिया है. उसके बाद तीन थानों की पुलिस के साथ डिप्टी एसपी विष्णु मिश्रा के घर पहुंचे और वहां उनका जितना सामान था उसको जब्त कर लिया है. सीओ भूषण वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि कोर्ट के आदेश पर यह कार्रवाई की गई है. इसके अलावा पुलिस विधायक के बेटे के बैंक खातों और अन्य प्रॉपर्टी को लेकर भी जांच कर रही है.

ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्रा और पत्नी के पास आय से 924 गुना अधिक संपत्ति होने का आरोप
भदोही के ज्ञानपुर से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. आगरा जेल में बंद विजय मिश्रा और उनकी पत्नी रामलली मिश्रा के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने के मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है. प्रयागराज के हंडिया थाने में विजिलेंस इंस्पेक्टर ओम प्रकाश सिंह की ओर से यह मुकदमा दर्ज कराया गया है. 4 अक्टूबर 2019 को विजिलेंस से ज्ञानपुर के विधायक विजय मिश्रा और उनकी पत्नी एमएलसी रामलली के खिलाफ शिकायत की गई थी. दोनों पर लोकसेवक के पद पर रहते हुए अवैध रूप से नामी, बेनामी, चल और अचल संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगा था. इसके बाद विजिलेंस की जांच में खुलासा हुआ कि इस अवधि में उनकी कुल अर्जित आया दो करोड़ 32 लाख 33 हजार 593 रुपए थी, लेकिन दोनों ने 23 करोड़ 81 लाख 98 हजार 248 रुपए खर्च किए. इस आधार पर आय से अधिक 21 करोड़, 49 लाख 45 हजार 993 रुपए अधिक पाया गया. जो कि दोनों की अर्जित आय से 924 प्रतिशत ज्यादा है.

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *