Kisan Andolan: किसानों का चक्‍का जाम आज, यहां पढ़ें देश और दुनिया की 10 बड़ी खबरें– News18 Hindi

Spread the love

नई दिल्ली. कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ प्रदर्शन करे रहे किसान आज राष्‍ट्रव्‍यापी चक्‍का जाम (Chakka Jam) करने वाले हैं. इस दौरान देश भर में राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच गाड़‍ियां नहीं चलने दी जाएंगी. किसान नेताओं का कहना है कि उत्‍तर प्रदेश और उत्‍तराखंड में चक्‍का जाम नहीं होगा. बीती 2 फरवरी को देश में कोरोना के सिर्फ 8635 मामले (New Covid Cases) ही सामने आए. भारत में कोरोना वायरस के नए मामलों में आई जबरदस्त कमी को इसलिए कामयाबी माना जा सकता है कि कई देशों में महामारी (Pandemic) की दूसरी और तीसरी लहर (Second-Third Wave) कोहराम मचा रही है.केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी (Manohar Agnani) ने बताया है कि देश में 21 दिन के भीतर 50 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया है. भारत की स्पीड दुनिया के ताकतवर कहे जाने वाले कई मुल्कों से कहीं ज्यादा तेज है.

यहां पढ़ें देश और दुनिया की 10 बड़ी खबरें

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का चक्‍का जाम आज, क्या खुला, क्या बंद यहां जानें सब
कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ प्रदर्शन करे रहे किसान आज राष्‍ट्रव्‍यापी चक्‍का जाम (Chakka Jam) करने वाले हैं. इस दौरान देश भर में राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच गाड़‍ियां नहीं चलने दी जाएंगी. किसान नेताओं का कहना है कि उत्‍तर प्रदेश और उत्‍तराखंड में चक्‍का जाम नहीं होगा. साथ ही दिल्‍ली में भी इसका असर देखने को नहीं मिलेगा.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

जानें कैसे भारत में बेहद तेजी के साथ कम हो रहे हैं कोविड-19 के नए केस
बीते साल 16 सितंबर को एक दिन के भीतर देश में कोरोना के 97,894 नए मामले (Daily Covid Cases) सामने आए थे. करीब एक साल से कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे भारत के लिए यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. लेकिन बीती 2 फरवरी को देश में कोरोना के सिर्फ 8635 मामले ही सामने आए. भारत में कोरोना वायरस के नए मामलों में आई जबरदस्त कमी को इसलिए कामयाबी माना जा सकता है कि कई देशों में महामारी की दूसरी और तीसरी लहर कोहराम मचा रही है.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

वैक्सीनेशन में भारत ने US, UK, इजरायल को पीछे छोड़ा, 21 दिन में 50 लाख लोगों को लगी वैक्सीन
भारत इस वक्त दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम (Covid Vaccination Drive) चला रहा है. बीती 16 जनवरी से इस कार्यक्रम की शुरुआत हुई थी. अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी (Manohar Agnani) ने बताया है कि देश में 21 दिन के भीतर 50 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया है.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

चीन का दखल! ECT डील तोड़ने के बाद श्रीलंका ने एक और कदम से चौंकाया
ईस्टर्न कंटेनर टर्मिनल प्रोजेक्ट (ECT Project) से बाहर आकर भारत और जापान को झटका देने के बाद श्रीलंका ने एक और अप्रत्याशित कदम उठाया है. देश के सेंट्रल बैंक ने कहा है कि उसने भारत से लिए गए 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी करीब 29 सौ करोड़ रुपए वापस कर दिए हैं. बैंक की तरफ से ये भी साफ किया गया है कि इसके लिए भारत की तरफ से कोई दबाव नहीं बनाया गया था. दरअसल ईसीटी प्रोजेक्ट से बाहर होने के बाद श्रीलंका में कुछ खबरें छपी थीं कि भारत ने कर्जवापसी के लिए दबाव बनाया है. इसे लेकर सेंट्रल बैंक ने ट्वीट कर जानकारी दी है.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

Kisan Andolan: किसानों के प्रदर्शन पर सरकार के रवैये के खिलाफ 75 पूर्व नौकरशाहों का खुला पत्र
पूर्व नौकरशाहों के एक समूह ने शुक्रवार को एक खुले पत्र में कहा कि नए कृषि कानूनों (Farms Law) के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन के प्रति केन्द्र सरकार का रवैया शुरुआत से ही प्रतिकूल और टकराव भरा रहा है. दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल नजीब जंग, जुलियो रिबेरियो और अरुणा रॉय सहित 75 पूर्व नौकरशाहों द्वारा हस्ताक्षरित पत्र में कहा गया है कि गैर-राजनीतिक किसानों को ‘ऐसे गैर-जिम्मेदार प्रतिद्वंद्वी के रूप में देखा जा रहा है जिनका उपहास किया जाना चाहिए, जिनकी छवि खराब की जानी चाहिए और जिन्हें हराया जाना चाहिए.’ ये सभी लोग ‘कॉन्स्टिट्यूशनल कंडक्ट ग्रुप’ कंडक्ट ग्रुप (सीसीजी) के हिस्सा हैं.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

Jammu Kashmir News: जम्मू-कश्मीर में 4जी इंटरनेट सेवाएं की जा रही हैं बहाल
जम्मू-कश्मीर में पिछले कई महीने से बंद 4जी इंटरनेट सेवा बहाल की जा रही है. बता दें संसद ने पिछले साल 5 अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 को रद्द कर जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिया था. उसके बाद से ही कश्मीर में इंटरनेट सेवाएं सस्‍पेंड कर दी गई थीं. प्रधान सचिव रोहित कंसल (बिजली और सूचना) ने बताया कि पूरे जम्मू-कश्मीर में 4जी इंटरनेट सेवा बहाल करने का फैसला लिया गया है. बता दें कि इस वक्त जम्मू-कश्मीर में 2जी सेवा चल रही है. राज्य में 4जी इंटरनेट सेवा बहाली के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की गई थी.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

Kisan Aandolan: कृषि मंत्री पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- ‘तोमर के पास खेती नहीं, वो क्या जानें किसानी’
राज्यसभा में शुक्रवार को कृषि कानूनों को लेकर भाजपा और कांग्रेस में आमने सामने तीखी बहस हुई. किसान आंदोलन के मसले पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Agriculture Minister Narendra Singh Tomar)ने राज्यसभा में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. इस पर कांग्रेस की ओर से जवाब देते हुए दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने कृषि मंत्री पर ही तंज कस दिया. उन्होंने कहा कि नरेंद्र सिंह तोमर को किसानी की जानकारी ही नहीं है और प्रधानमंत्री ने उन्हें किसानों को कृषि कानून की जानकारी देने के लिए लगाया है.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

पाकिस्तान: कश्मीर मुद्दे पर इमरान खान बोले- भारत एक कदम बढ़ाए, हम दो बढ़ाएंगे
पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने शुक्रवार को कश्‍मीर एकजुटता दिवस मनाते हुए आरोप लगाया कि भारत (India) कश्‍मीरियों पर अत्‍याचार कर रहा है. इमरान खान ने ट्वीट करके कहा कि पाकिस्‍तान उपमहाद्वीप में हमेशा से ही शांति के लिए खड़ा रहा है लेकिन इसके लिए माहौल बनाने की जिम्‍मेदारी भारत की है. उन्‍होंने कहा कि अगर भारत संयुक्‍त राष्‍ट्र के प्रस्‍तावों के मुताबिक कश्‍मीर मुद्दे के न्‍यायपूर्ण समाधान के लिए गंभीरता दिखाए तो हम शांति के ल‍िए दो कदम आगे बढ़ने को तैयार हैं.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

उइगर मुस्लिम महिलाओं पर रिपोर्ट पर तिलमिलाया चीन, आरोपों को बताया बेबुनियाद
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने जासूसी के आरोपों पर तीन चीनी पत्रकारों को निष्कासित किए जाने के ब्रिटेन के कदम पर भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. ‘डेली टेलीग्राफ’ अखबार के मुताबिक, ब्रिटेन ने पत्रकार के नाम पर पिछले साल जासूसी करने वाले तीन चीनी नागरिकों को निष्कासित कर दिया है. अखबार में आयी खबर के मुताबिक तीनों बीजिंग के सुरक्षा मंत्रालय के लिए खुफिया अधिकारी के तौर पर काम कर रहे थे.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

जो बाइडन बोले- चीन की चुनौतियों से सीधे तौर पर निपटेगा अमेरिका, सहयोगी देशों की जरूरत
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ( US President Joe Biden) ने चीन (China) को सर्वाधिक ‘आक्रामक प्रतिद्वंद्वी’ करार देते हुए कहा है कि उनका प्रशासन बीजिंग द्वारा पेश की जाने वाली चुनौतियों से न सिर्फ सीधे तौर पर निपटेगा, बल्कि जब अमेरिका के हितों की बात होगी तब वह उसके साथ काम करने से भी नहीं हिचकेगा. बाइडन ने एक उभरते और कहीं अधिक आक्रामक चीन के अपनी विदेश नीति के लिये सबसे बड़ी चुनौती होने का जिक्र करते हुए बृहस्पतिवार को इस बात पर जोर दिया कि बीजिंग द्वारा पैदा की गई रणनीतिक प्रतिस्पर्धा का जवाब देने के लिए सहयोगी देशों की जरूरत है.

यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर

Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *