TOP 10 Sports News : WTC फाइनल का तीसरा दिन न्यूजीलैंड के नाम, यूरो-2020 के नॉकआउट राउंड में इटली और वेल्स

Spread the love

TOP 10 Sports News: 20 जून की टॉप-10 खबरें.

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारतीय टीम की पहली पारी 217 रन पर सिमटी जिसके बाद न्यूजीलैंड ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक 2 विकेट खोकर 101 रन बना लिए. इटली और वेल्स ने यूरो 2020 के नॉकआउट राउंड में जगह बना ली है.

नई दिल्ली. भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ जारी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में अपनी पहली पारी में 217 रन बनाए. तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक न्यूजीलैंड ने 2 विकेट खोकर 101 रन बना लिए. लंबे कद के पेसर काइल जेमिसन ने पांच विकेट लिए जिसके बाद सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉनवे ने अर्धशतकीय पारी खेली. इटली और वेल्स ने यूरो 2020 के नॉकआउट राउंड में जगह बना ली है. फादर्स डे के मौके पर कई दिग्गज खिलाड़ियों ने अपने-अपने पिता को याद करते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर किए.

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारतीय टीम की पहली पारी रविवार को तीसरे दिन 217 रन पर सिमटी. इसके बाद दिन का खेल समाप्त होने तक न्यूजीलैंड ने 2 विकेट खोकर 101 रन बना लिए. लंबे कद के तेज गेंदबाज काइल जेमिसन ने अपने आठवें टेस्ट मैच में पांचवीं बार पारी में पांच विकेट लिए जिसके बाद सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉनवे ने लगातार तीसरे मैच में अर्धशतकीय पारी खेली. इससे न्यूजीलैंड ऐतिहासिक खिताबी मुकाबले का तीसरा दिन अपने नाम करने में सफल रहा. अभी कीवी टीम भारत से पहली पारी के आधार पर 116 रन पीछे है.

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया बड़ा स्कोर नहीं बना सकी. टीम ने अंतिम 7 विकेट 68 रन पर गंवाए. अजिंक्य रहाणे ने सबसे ज्यादा 49 रन बनाए, कप्तान विराट कोहली ने भी 44 रन का योगदान दिया. टीम इंडिया घर के बाहर पहली पारी में 250 से कम रन बनाने के बाद न्यूजीलैंड को कभी नहीं हराया है. ऐसे में उसे फाइनल जीतने के रिकॉर्ड प्रदर्शन करना होगा. टीम इंडिया का न्यूजीलैंड के खिलाफ रिकॉर्ड देखें तो यह खराब रहा है. टीम 20वीं बार टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी में 250 रन का आंकड़ा नहीं छू सकी. इस दौरान टीम को सिर्फ 2 टेस्ट में जीत मिली है. दोनों मैच टीम ने घर में जीते हैं. 7 में हारे हैं, जबकि 10 मैच ड्रॉ रहे हैं.

इटली और वेल्स ने यूरो 2020 के नॉकआउट राउंड में जगह बना ली है. ग्रुप-ए में रविवार को इटली ने लगातार तीसरी जीत दर्ज की. टीम ने वेल्स को 1-0 से हराया. दूसरी ओर वेल्स की टीम अंतिम ग्रुप मैच में हारने के बाद भी क्वालिफाई करने में सफल रही. ग्रुप के एक अन्य मुकाबले में स्विट्जरलैंड ने तुर्की को 3-1 से हराया. ग्रुप के मुकाबले खत्म होने के बाद स्विट्जरलैंड के भविष्य पर फैसला होगा.

न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जेमिसन ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया को झकझोर दिया और पहली पारी में कुल 5 विकेट झटके. 26 साल के जेमिसन का यह 8वां ही टेस्ट मैच है. वह पांच बार पांच विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं और कुल 44 विकेट झटक चुके हैं. उन्होंने रोहित शर्मा, विराट कोहली, ऋषभ पंत, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह का विकेट लिया. एक समय वे हैट्रिक लेने की कगार पर थे लेकिन मोहम्मद शमी ने चौका लगाकर उन्हें ऐसा नहीं करने दिया. जेमिसन ने 22 ओवर गेंदबाजी की जिनमें 12 ओवर मेडन फेंके. 31 रन दिए और 5 विकेट झटके.

महान बल्लेबाजों में शुमार सचिन तेंदुलकर, टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, पूर्व दिग्गज खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग, वीवीएस लक्ष्मण समेत कई क्रिकेटरों ने फादर्स डे के मौके पर सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर किए. सचिन ने एक वीडियो शेयर किया है जिसमें उन्होंने एक झूला दिखाया जो उन्होंने अपने पिता की यादों को संजोकर रखने के लिए खास तौर पर तैयार करवाया था. सचिन ने कहा कि वह जब भी परेशान होते हैं और दिल-दिमाग में अलग-अलग तरह के ख्याल आते हैं तो वह इस पर बैठते हैं.

भारत ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले के लिए दो स्पिनर्स को प्लेइंग-11 में शामिल किया है. वहीं, कीवी टीम ने एक भी स्पिन गेंदबाज को मौका नहीं दिया. इसे लेकर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने भी सवाल खड़े किए थे. उन्होंने ट्वीट किया था कि मैं ये देखकर काफी निराश हूं कि फाइनल में न्यूजीलैंड ने प्लेइंग-11 में एक भी स्पिनर को नहीं शामिल किया क्योंकि अभी से फुटमार्क नजर आने लगे हैं. अगर विकेट ने टर्न लिया और भारत पहली पारी में 275 या 300 रन बनाने में सफल रहा तो मैच खत्म हो जाएगा. सिर्फ मौसम ही बचा जा सकता है. वॉर्न के इस ट्वीट के जवाब में एक फैन ने उनकी स्पिन गेंदबाजी पर सवाल उठाते हुए कहा कि शेन क्या आप जानते हैं कि स्पिन गेंद कैसे की जाती है? ये पिच नहीं सूखेगी, क्योंकि बाकी बचे टेस्ट में भी यहां बारिश की आशंका है. वॉर्न ने इसका जवाब नहीं दिया. लेकिन वीरेंद्र सहवाग इस विवाद में कूद गए और उन्होंने भी वॉर्न की चुटकी ले ली. सहवाग ने वॉर्न से सवाल पूछने वाले फैन के ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा कि वॉर्न आप इसे फ्रेम करें और कुछ स्पिन गेंदबाजी के बारे में समझने की कोशिश करें.

टोक्यो ओलंपिक शुरू होने में अब 32 दिन का वक्त बचा है. इस बीच, आयोजन समिति ने गेम्स विलेज को मीडिया के लिए खोल दिया. यहां खिलाड़ियों के रहने के लिए अपार्टमेंट के साथ ही लकड़ी से बना शॉपिंग प्लाजा भी है. ओलंपिक के दौरान गेम्स विलेज में 12 हजार एथलीट, कोच और सपोर्ट स्टाफ रुकेंगे. कोरोना के कारण पिछले साल टाले गए टोक्यो ओलंपिक इस साल 23 जुलाई से 8 अगस्त के बीच होंगे. इस बीच, जापान के लोग स्टेडियम में ओलंपिक का मजा उठा पाएंगे या नहीं. इसका फैसला सोमवार को हो जाएगा. गेम्स विलेज में एटीएम, ड्राय क्लीनिंग मशीन, पोस्ट ऑफिस, बैंक और कूरियर सेवा की व्यवस्था की गई है. ताकि खिलाड़ियों को बाहर जाना ही न पड़े.

17 साल की ओपनर शेफाली वर्मा ने शानदार टेस्ट डेब्यू किया जिससे भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज काफी प्रभावित हैं. उन्होंने कहा कि यह युवा खिलाड़ी भविष्य में खेल के तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया की अहम सदस्य होंगी. 17 साल की शेफाली ने इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट की पहली पारी में 96 रन की आक्रामक पारी खेलने के बाद दूसरी पारी में भी 63 रन बनाए. वह डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक जड़ने वाली सबसे युवा और कुल चौथी खिलाड़ी बनीं. उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया. मिताली ने कहा कि शेफाली ने टी20 फॉर्मेट की तरह पहली गेंद से ही आक्रामक बल्लेबाजी नहीं की. वह नई गेंद के खिलाफ समझदारी से खेली और टीम में उसका होना शानदार है.

बीसीसीआई ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके देश के खिलाड़ियों की तैयारियों और ट्रेनिंग के लिए 10 करोड़ रुपए देने का फैसला किया. बीसीसीआई की आपात शीर्ष परिषद बैठक के दौरान इस संबंध में फैसला लिया गया, जिसमें बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने हिस्सा लिया. बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि शीर्ष परिषद ने इसके लिए 10 करोड़ रुपए को मंजूरी दी है. उन्होंने कहा कि इस कोष का उपयोग टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले हमारे शीर्ष खिलाड़ियों की तैयारियों और अन्य उद्देश्यों के लिए किया जाएगा. खेल मंत्रालय और भारतीय ओलंपिक संघ से बात करने के बाद भुगतान का तरीका तय किया जाएगा.

महान एथलीट मिल्खा सिंह ने 91 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा. वह कोरोना से संक्रमित थे. मिल्खा की अस्थियों को देखकर श्मशान घाट के पंडित भी एक बार हैरान रह गए. दरअसल रविवार को मिल्खा सिंह की अस्थियों को चंडीगढ़ सेक्टर 25 श्मशान घाट में जब चुना जा रहा था, तो वहां के पंडित ऋषभ शर्मा दंग रह गए. ऋषभ ने बताया कि 91 साल की उम्र में ऐसी मजबूत हड्डियां देखने को नहीं मिलती. आमतौर पर निधन के बाद ज्यादातर हड्डियों का चूरा हो जाता है और पीलापन होता है, लेकिन मिल्खा सिंह की घुटनों, हाथों और अन्य हड्डियां मजबूत मिलीं. इनमें पीलापन भी नहीं था. उन्होंने बताया कि उन्हें इस शमशान घाट में 7 साल हो गए है, लेकिन इस तरह की अस्थियां काफी कम लोगों में देखने को मिलती हैं. खासकर जिस इंसान की उम्र 91 साल की हो, तो ऐसा काफी कम होता है.





Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *